माहे रजब की मुनासेबतें |


माहे रजब की मुनासेबतें
माहे रजब की मुनासेबतें
  ईमाम मूसा अल काज़िम (अ:स), " रजब बहिश्त में एक नहर है जिस का पानी दूध से ज़्यादा सफ़ेद और और शहद से ज़्यादा शीरीं है, और जो शख्स इस माह में एक दिन का भी रोज़ा रखेगा, वो इस नहर से सैराब होगा".

ईसतीग़फ़ार.
पवित्र पैग़म्बर (स:अ:व:व) फ़रमाते हैं, "रजब मेरी उम्मत के लिये इसतीग़फ़ार का महीना है, इस महीने में ज़्यादा से ज़्यादा ईसतीग़फ़ार करो".

1---रजब - विलादत हज़रत ईमाम मोहम्मद बाक़र (अ:स) – पांचवें ईमाम - 57 हिजरी

2/5---रजब - विलादत ईमाम अली नक़ी अल-हादी (अ:स) - दसवें ईमाम - 214 हिजरी

3 --- रजब - शहादत ईमाम अली नक़ी अल-हादी (अ:स) - दसवें ईमाम -254 हिजरी

10 --- रजब - विलादत ईमाम तक़ी अल-जवाद (अ:स) - नौवें ईमाम - 195 हिजरी

12--- रजब - शहादत हज़रत अब्बास इब्ने अब्दुल मुत्तलिब (अ:स) - पैग़म्बर मोहम्मद (स:अ:व:व) के चचा

13 --- रजब - विलादत हज़रत ईमाम अली (अ:स) - पहले ईमाम - 30 आमूल फ़ील

13,14,15 --- रजब - अय्यामे बैज़ - सुनहरे दिन

15 --- रजब - शहादत हज़रत ज़ैनब (स:अ) बिन्ते अली (अ:स) - 62 हिजरी

20 --- रजब - विलादत हज़रत सकीना (स:अ) बिन्ते अल-हुसैन (अ:स) - 57 हिजरी

24--- रजब - जंगे खैबर - 7 हिजरी

25 --- रजब - शहादत हज़रत ईमाम मूसा अल-काज़िम (अ:स) - सातवें ईमाम - 183 हिजरी

26 --- रजब - शहादत हज़रत अबू तालिब (अ:स) (विवादित तिथि)

27 --- रजब - मेराज का दिन - हज़रत पैग़म्बर मोहम्मद (स:अ:व:व) का मेराज पर जाना

28--- रजब - ईमाम हुसैन (अ:स) की कर्बला की यात्रा का आरम्भ

29--- रजब - तबूक की जंग

इसके अलावा.....

- क़िबला का रुख़ क़ुद्स से मक्का की तरफ़ मोड़ा गया - 2 हिजरी

- जाफ़र तैय्यार (अ:स) बिन अबी तालिब एथिओपिआ से वापस आये