इमाम अली (अ) सबसे पहले मोमिन |


इमाम अली (अ) सबसे पहले मोमिन
इमाम अली (अ) सबसे पहले मोमिन
 


पैग़म्बरे अकरम (स) ने हज़रत अली (अ) के बारे में फ़ातेमा ज़हरा (स) से फ़रमाया: बेशक वह (अली (अ)) मेरे असहाब में सबसे पहले मुझ पर ईमान लाये। (मुसनद अहमद जिल्द 5 पेज 662 हदीस 19796, कंज़ुल उम्माल जिल्द 11 पेज 605 हदीस 23924)

इसी तरह इब्ने अबिल हदीद रक़्मतराज़ हैं: मैं उस शख्सीयत के बारे में क्या कहूँ जिसने हिदायत में दूसरों से सबक़त ली हो, ख़ुदा पर ईमान लायें और उसकी इबादत की जबकि तमाम लोग पत्थर (के बुतों) की पूजा किया करते थे। (शरहे इब्ने हदीद जिल्द 3 पेज 260)